Monday, May 26, 2008

अभिव्यक्ति....

दूर हो कर भी पास हो तुम,
एक अनछुआ एहसास हो तुम;
अदबुध से तुम, नटखट से तुम,
जैसे भी हो सबसे ख़ास हो तुम.

1 comment:

DR.ANURAG ARYA said...

कम शब्द ओर पूरी बात ....